PUBG प्लेयर्स के लिए फ्लाईडिगी Wasp 2 गेमिंग कंट्रोलर जोकि आपके मोबाइल को PSP की तरह बना देगा- स्पेसिफिकेशन और क़ीमत

flydigi wasp2
flydigi wasp2 (no copyright infringement is intended)

Read in: English
गेमिंग न सिर्फ आपके मूड को बल्कि आपके याददाश्त को बढाती है और आपके दिमाग़ की सोचने की छमता बढाती है और हल्की फुल्की गेमिंग आप आसानी से अपने मोबाइल से कर सकते है। लेकिन अगर आप हैवी गेमर है और मोबाइल में PUBG या Fortnight जैसे गेम लम्बे समय तक खेलते है तो मोबाइल के टच कन्ट्रोल से गेम खेलना काफी असुविधाजनक हो सकता है क्यूँकि उंगलियों में पसीना और स्क्रीन पे ही कन्ट्रोल बटन का होना असहज़ महसूस कराता है यहाँ तक की इसकी वजह से गेम में आपको अपने प्रतिद्वंद्वी से पीछे हो सकते है।

आप अपने गेमिंग एक्सपीरियंस को बढाने और गेम में बाकी प्लेयर्स से एडवांटेज पाने के लिए गेमिंग कन्ट्रोलर का भी इस्तेमाल कर सकते है। अगर आप PUBG और Fortnight जैसे गेम ज्यादा पसंद करते है तो फ्लाईडिगी जोकि गेमिंग कंट्रोलर और एक्सेसरीज बनाने के लिए मशहूर है उसका ब्लूटूथ गेमिंग कंट्रोलर फ्लाईडिगी Wasp 2 एक अच्छा विकल्प है जोकि एक आटोमेटिक प्रेशर गेम कंट्रोलर है। ये कन्ट्रोलर आपके स्मार्टफोन से जुड़ जाता है तथा इसके इस्तेमाल से आपका गेमिंग रिस्पांस टाइम कम होता है तथा स्क्रीन पूरी तरह से फ्री रहती है जिससे गेम में विज़िबिलिटी भी बढ़ती है।

फ्लाईडिगी Wasp 2 गेमिंग कंट्रोलर डिज़ाइन

flydigi wasp2
flydigi wasp2

फ्लाईडिगी Wasp 2 गेमिंग कंट्रोलर देखने में एक वीडियो गेम कन्ट्रोलर के आधे हिस्से की तरह है जो की कोबलस्टोन सॉफ्ट सरफेस से बना है और आपके मोबाइल में अच्छी तरह फिट हो जाता है और इससे मोबाइल पे कोई निशान भी नहीं पड़ता। इसके फ्रंट में ALPS रॉकर जॉयस्टिक दिया गया है जो गेम में मूवमेंट और टारगेट सेट करने के काम आता है तथा इसके निचे 2 बटन A & B दिए गए है जिसका फंक्शन आप खुद तय कर सकते है। वही इन दोनों बटन के निचे की तरफ फ्लाईडिगी का लोगो वाला बटन है जिसके चारो तरफ गोलाई में LED लाइट जलती है और यह गेम के कंट्रोल को मैनेज करता है।

इसके ऊपर की तरफ 2 ट्रिगर बटन LB और LT दिए गए है जिसमे LT बटन की साइज थोड़ी बड़ी है तथा यह पीछे की तरफ स्थित है फायर करने और गेम में गोली चलाने के काम आती है तथा LT बटन का उपयोग आप टारगेट पे टेलिस्कोप से निशाना लगाने के लिए कर सकते है। वही बात करे इसके पीछे की तरफ तो इसमें एक अलग़ से लगाने वाला मेटल का बटन दिया गया है जिसे आप अपनी सुविधा के अनुसार लगा कर ऍप से कॉन्फ़िगर कर सकते है वैसे ये बटन गेम में हथियार के रीलोड करने,वेपन बदलने या फिर जम्प करने के लिए बेहतरीन है तथा इससे आपको गेम में एडवांटेज मिलेगा।

वही पीछे की तरह ऊपर एक रिलीज बटन दिया गया है जिसे दबाते ही फ़ोन पे पकड़ बनाने वाला मॉडुल बाहर आ जाता है जिसमे आप फ़ोन को रखकर उसके साइज को एडजस्ट कर सकते है। इस कंट्रोलर के निचे किनारे की तरफ पॉवर/ऑफ का स्विच दिया गया है तथा इसके निचे की ही तरफ़ USB-C पोर्ट दिया गया है जिसकी मदद से आप इस कन्ट्रोलर को चार्ज कर सकते है, ये पोर्ट एक UCB-C कनेक्टर केबल से ढका रहता है जिससे आप इस कंट्रोलर को अपने एंड्राइड मोबाइल के साथ कॉन्फ़िगर कर सकते है।

फ़ीचर्स

फ्लाईडिगी Wasp 2 गेमिंग कंट्रोलर आपके मोबाइल से ब्लूटूथ के द्वारा कनेक्ट होता है तथा यह गेम के हैंडल बटन्स को एनालॉग स्क्रीन कॉन्टैक्ट में बदल देता है जिससे आप किसी भी मोबाइल आसानी से कंट्रोल कर सकता है। यह कंट्रोलर 120 फ्रेम/सेकंड स्क्रीन पे चलने वाले गेम को भी बिना देरी किये रियल टाइम इनपुट प्रदान करता है तथा इसका टच रिस्पांस महज़ 6 मिलीसेकंड का है।

इस कंट्रोलर का key-स्ट्रोक बहोत छोटा है जिससे की बटन्स को बहोत हल्का प्रेस करना पड़ता है तथा गेम में बहोत क्लियर और फ़ास्ट फ़ीडबैक दिखता है। वही इसका कम्फर्टेबले मेम्ब्रेन केस तथा निचे की तरफ रबर पैडिंग गेम खेलते समय भी फ़ोन पे अच्छी पकड़ बनाये रखता है। इस कंट्रोलर में 86 मिमी तक के चौड़ाई के स्मार्टफोन आसानी से फिट हो जाते है जोकि किसी भी फ़ोन के लिए पर्याप्त है यहाँ तक की वनप्लस 8 प्रो जैसे बड़े स्मार्टफोन की चौड़ाई 74.4 मिमी ही है।

स्मार्टफोन में फ्लाईडिगी Wasp 2 कंट्रोलर को कैसे कॉन्फ़िगर करें

स्मार्टफोन में इस गेमिंग कंट्रोलर को कैसे कॉन्फ़िगर करने के लिए सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर या एप्पल IOS स्टोर से फ्लाईडिगी गेम सेंटर ऍप इंस्टॉल करना पड़ेगा। एप्पल के स्मार्टफोन में आप सीधे ब्लूटूथ की मदद से इस डिवाइस को कनेक्ट करके इस ऍप की मदद से कंट्रोल को कॉन्फ़िगर कर सकते है वही एंड्राइड डिवाइस में पहली बार कनेक्ट करने के लिए आपको कुछ स्टेप फॉलो करने पड़ेंगे जो की इस प्रकार है -

  1. सबसे पहले अपने स्मार्टफोन में फ्लाईडिगी गेम सेंटर ऍप इनस्टॉल करे।
  2.  कंट्रोलर में दिए गए USB-C केबल पोर्ट से मोबाइल को कनेक्ट करे ( अगर आपका मोबाइल में टाइप-C पोर्ट नहीं है तो आपको अलग से टाइप-C से माइक्रो-USB अडॉप्टर खरीदना पड़ेगा जो काफी सस्ता आता है।
  3. सेटिंग में जाकर अपने मोबाइल में USB डिबगिंग को ऑन करे (USB डिबगिंग ऑप्शन के लिए सबसे पहले आपको मोबाइल में डेवलपर ऑप्शन लाना होगा उसके लिए सेटिंग में about फ़ोन में जाकर 5 बार मोबाइल के बिल्ड नंबर पे क्लिक करे, मोबाइल के सिस्टम सेटिंग में डेवलपर ऑप्शन आ जाएगा। )
  4. टाइप-C केबल को कनेक्ट किये हुए ही गेमिंग कंट्रोलर को स्विच ऑफ करके ऑन करे आपके मोबाइल में USB डिबगिंग के लिए एक पॉपअप विण्डो आएगी उसे ओके कर दे।
  5.  फ्लाईडिगी गेम सेंटर ऍप खोलने पे आपको डिवाइस को एक्टिवेट का ऑप्शन आएगा आप इसे एक्टिवेट कर दे।

इस प्रोसेस को किसी भी मोबाइल से कनेक्ट करने के लिए सिर्फ एक बार करना होता है उसके बाद आप कभी भी ब्लूटूथ को ऑन करके इस डिवाइस से कनेक्ट करना रहता है तथा आप ऍप में कभी भी गेम को सेलेक्ट करके उसे कॉन्फ़िगर कर सकते है। वही गेम के बीच में कंट्रोल को एडजस्ट करने के लिए मोबाइल के स्क्रीन पे ऊपर की तरफ ऑप्शन आएगा वही आप सीधे कंट्रोलर के फ्लाईडिगी लोगो वाले बटन पे भी क्लिक करके गेम के बीच में ही कंट्रोलर के बटन को कॉन्फ़िगर कर सकते है।

बैटरी बैकअप

कंपनी के अनुसार फुल चार्ज करने पे यह डिवाइस लगभग 80 घंटे का बैकअप देता है।

फ्लाईडिगी Wasp 2 फुल स्पेसिफिकेशन

ब्रांड: फ्लाईडिगी
मॉडल: Wasp 2
डायमेंशन: 7.3 x 5.3 x 3.7 inches
मोबाइल की अधिकतम चौड़ाई सपोर्ट: 86 मिमी
मटेरियल: TPU प्लास्टिक, कोबलस्टोन सॉफ्ट सरफेस
बटन: 1- जॉयस्टिक, A, B, LB, LT, डीटैचेबले मेटल बटन और कॉन्फिग्रेशन बटन
बटन रिस्पांस टाइम: 6 मिलीसेकंड
कनेक्टिविटी: ब्लूटूथ
कम्पेटिबिलिटी: एंड्राइड & ios
ऍप: फ्लाईडिगी गेम सेंटर
पोर्ट: टाइप-C
बैटरी बैकअप: 80 घंटे
वज़न: 294 ग्राम
कलर: ब्लैक

फ्लाईडिगी Wasp 2 गेमिंग कंट्रोलर की भारत में क़ीमत

फ्लाईडिगी Wasp 2 गेमिंग कंट्रोलर की भारत में क़ीमत लगभग ₹3,400 (approx $43.7) है वही इसके 3 और वेरिएंट स्टैण्डर्ड वेरिएंट, स्पेशल एडिशन और टेबलेट वेरिएंट है। स्टैंडर्ड वेरिएंट में डीटैचेबले मेटल बटन नहीं दिया गया है तथा इसके स्पेशल एडिशन में 6-एक्सिस सोमाटोसेंसरी फ़ीचर दिया गया है जो कंट्रोलर में एक्स्ट्रा गयरोस्कोप देता है जिससे गेम में टारगेट लॉकिंग में मदद मिलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here